आर्किटेक्चर में Substance 3D.

आर्किटेक्चर

प्रकृति अपने मौलिक रूप में — मानवीय स्पर्श के बगैर — बेहद खूबसूरत है. हम जिस दुनिया में रहते हैं, यह उसकी शानदार नेमतों में से एक है. उसी खूबसूरती को शहरी परिवेश में ढालने के लिए थोड़े हुनर की ज़रूरत होती है. और इसी जगह आर्किटेक्ट की भूमिका सामने आती है.

 

आर्किटेक्चर बने-बनाए एनवायरन्मेंट की डिज़ाइन के ज़रिये, मुख्यत: दूसरों की सेवाओं पर फ़ोकस होता है. लेकिन रोज़मर्रा में आर्किटेक्ट को कई तरह की व्यावहारिक माँगों जो अक्सर अंतर्विरोधी भी होती हैं, के चलते एक खास दायरे में अपनी भूमिका निभानी होती है — शुरुआती अवधारणा में बदलाव कर देने वाले क्लाइंट, पर्यावरण के बारे में चिंताएँ और यहाँ तक कि सामान्य रूप से कम समय वाली डेडलाइन के तहत उनको काम करना होता है. ये सभी कारक और अन्य वजहें किसी आर्किटेक्चरल प्रोजेक्ट के अंतिम परिणाम में निर्णायक भूमिका निभा सकती हैं.

 

खुशी की बात यह है कि किसी आर्किटेक्चरल वर्कफ़्लो में 3D-आधारित अप्रोच से काम करके इनमें से कई ज़रूरतों को पूरा किया जा सकता है.

 

बेशक, किसी भी आर्किटेक्चरल प्रोजेक्ट में क्वालिटी बहुत महत्वपूर्ण है. हर प्रोजेक्ट में आर्किटेक्ट का काम उतना बेहतरीन होना चाहिए, जितना बेहतरीन वह हो सकता है. यहाँ,  Adobe Substance 3D टूलसेट में मौजूद 3D टूल एक आदर्श समाधान हैं.इन टूल से आर्किटेक्ट को पूरी तरह से फ़ोटोरियलिस्टिक इमेज बनाने की सुविधा मिलती है. प्रोजेक्ट को उसके पूरे संदर्भ में दिखाने के लिए बनाए गए एसेट आसानी से 3D सीन में लगाए जा सकते हैं.

 

लेकिन एक आर्किटेक्ट के काम में रफ़्तार और बदलती ज़रूरतों के साथ तुरंत ऐक्शन लेना भी बहुत ज़रूरी होता है. यहाँ भी, 3D टूल पर आधारित अप्रोच अपनाने से कई समाधान मिल जाते हैं. Substance 3D टूलसेट आर्किटेक्ट को ज़रूरत के मुताबिक तेज़ी से और आसानी से एसेट को बनाने और उनमें बदलाव करने की सुविधा देते हैं. इसके अलावा Substance 3D Assets लाइब्रेरी इस्तेमाल के लिए तैयार 3D मॉडल और मटीरियल की एक बड़ी रेंज उपलब्ध करवाता है.

 

जैसे-जैसे रीयल-टाइम विज़ुअलाइज़ेशन, जिसमें वर्चुअल और ऑगमेंटेड रिएलिटी शामिल हैं, आर्किटेक्चरल प्रोजेक्ट को प्रज़ेंट करने का ज़रिया बनता जा रहा है, Adobe ऐसे 3D टूल की रेंज उपलब्ध करवाने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है जो आर्किटेक्ट को अपने आर्किटेक्चरल विज़ुअलाइज़ेशन प्रोजेक्ट में रियलिज़्म, फ़्लेक्सिबिलिटी व क्षमता बढ़ाने में मदद करें.

डिजिटल मटीरियल: बेहतर क्षमता की ओर लंबी छलाँग.

डिजिटल मटीरियल

अच्छी क्वालिटी के विज़ुअल बनाने के लिए अल्ट्रारियलिस्टिक और पूरी तरह कस्टमाइज़ किए जा सकने वाले मटीरियल बहुत महत्वपूर्ण होते हैं. उदाहरण के लिए, अगर आप किसी क्लाइंट के लिए संगमरमर की फ़र्श का सुझाव देना चाहते हैं, तो इसे हर तरीके से संगमरमर की तरह ही दिखना और व्यवहार करना चाहिए — इसके रंग और रेफ़्लेक्टिवनेस का स्तर एकदम सही होना चाहिए और इसकी सतह के अंदर धारियों का पैटर्न सटीक होना चाहिए. कुछ भी कमी होने पर, क्लाइंट आपके विज़ुअल पर भरोसा नहीं कर पाएगा. इसके अलावा, आप तेज़ी से रियलिस्टिक और असरदार सीन बनाने में सक्षम होने चाहिए.

“Substance मेरे मटीरियल वर्कफ़्लो के एकदम सेंटर में है.”

— रॉबर्टों डी रोज़, आर्ट डायरेक्टर, STATE OF ART STUDIO

खुशी की बात यह है कि Substance 3D टूलसेट आपको पैरामीट्रिक और बदले जा सकने वाले मटीरियल की मदद से अपने एसेट और सीन को टेक्स्चर करने की सुविधा देता है. इन मटीरियल को इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है. आपको बस इन्हें ड्रैग और ड्रॉप करके अपने एसेट पर डालना है और फिर मनचाहा लुक पाने के लिए स्लाइडर को एडजस्ट करना है.

इन मटीरियल के लिए सोर्स की एक पूरी रेंज उपलब्ध है.

अपनी ज़रूरत के मुताबिक फ़ोटोरियलिस्टिक मटीरियल बनाएँ.

फ़ोटोरियलिस्टिक मटीरियल

परफ़ेक्ट और पूरी तरह से प्योर मटीरियल कभी भी नहीं मिलता. वास्तविकता में, मटीरियल के अधूरेपन की वजह से ही हमें बेहतरीन परिणाम मिलते हैं. इसके गुर इसकी डीटेलिंग में छिपे हैं.

 

Substance 3D टूलसेट आपको अपने खुद के, अधूरेपन के साथ रियलिस्टिक मटीरियल वगैरह बनाने की और उन्हें अप्लाई करने की सुविधा देता है. आप Substance 3D Designerकी मदद से बिल्कुल शुरुआत से मटीरियल बना सकते हैं या अपने पसंदीदा मटीरियल स्कैनर के डेटा, जैसे कि Vizoo या X-Rite द्वारा बनाए गए स्कैनर, से भी मटीरियल बना सकते हैं. आप मटीरियल को जैसे का तैसा भी इस्तेमाल कर सकते हैं या उसके कॉम्पोनेंट बदलकर या एकदम नई विशेषताएँ जोड़कर उसमें बदलाव कर सकते हैं — जैसे, हमारे संगमरमर वाले उदाहरण में आप संगमरमर का रंग बदल सकते हैं या जहाँ पहले धारियाँ नहीं थीं, वहाँ उन्हें जोड़ सकते हैं.

इसके अलावा, आप अपना खुद का डिजिटल मटीरियल बनाने के लिए Substance 3D Sampler  का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. बस अपने मटीरियल सैंपल की फ़ोटो लें और इमेज को इनपुट के तौर पर Sampler में डालें — टूल इसे 3D मटीरियल में बदल देगा. जैसे Designer से, आपको ज़रूरत के मुताबिक मटीरियल की विशेषताओं में बदलाव करने की सुविधा मिलती है.

मटीरियल बनाने के लिए आप जो भी तरीका इस्तेमाल करते हों, आप 8K तक के रिज़ॉल्यूशन वाले टाइल किए जाने योग्य मटीरियल बना सकते हैं और ज़रूरत के मुताबिक प्रीसेट की मदद से मटीरियल सेव कर सकते हैं. Substance टूलसेट में बनाई गई कोई भी इमेज सभी प्रमुख 3D टूल में कई फ़ॉर्मैट में एक्सपोर्ट की जा सकती है.

इस्तेमाल के लिए तैयार एसेट का अनमोल खज़ाना.

इस्तेमाल के लिए तैयार एसेट का अनमोल खज़ाना

अगर आप मौजूदा रीसोर्स का फ़ायदा उठाना चाहते हैं, तो आप ज़रूरत के मुताबिक या तो थर्ड-पार्टी सोर्स से या Substance 3D Assets लाइब्रेरी से 3D मटीरियल इंपोर्ट कर सकते हैं. 3D Assets मार्केटप्लेस में हज़ारों रेडीमेड 3D मटीरियल मौजूद हैं — इसमें बड़ी संख्या में अलग-अलग तरह की पूरी तरह पैरामीट्रिक लकड़ी, संगमरमर, कंक्रीट, काँच वगैरह शामिल हैं — साथ ही, मॉडल, HDRI और इमेज बेस्ड लाइटिंग (IBL) की एक बड़ी रेंज भी शामिल है. 

“Substance 3D Assets लाइब्रेरी रियलिस्टिक मटीरियल बनाने के उद्देश्य से इस्तेमाल करने के लिए शानदार टूल है और इन्हें एकदम नए सिरे से बनाने की ज़रूरत भी नहीं होती. उदाहरण के लिए, वर्क एरिया का कारपेट शुरुआत से Substance 3D Assets लाइब्रेरी में बनाया गया.”

— मर्को वेसियो, CEO, ONEIROS

अपनी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए एसेट खोजना या बनाना आसान है और यह आपको तेज़ी से अपनी खुद की मटीरियल लाइब्रेरी बनाने की भी सुविधा देता है.

ज़्यादा क्षमता से काम करने का मतलब है ज़्यादा क्रिएटिविटी से काम करना.

ज़्यादा क्षमता से काम करने का मतलब है ज़्यादा क्रिएटिविटी से काम करना.

Substance 3D टूलसेट आपके डिज़ाइन प्रपोज़ल के कई वेरिएशन क्रिएट करना भी आसान बनाता है.प्रोसीजरल Substance मटीरियल आपको मटीरियल की इनफ़िनिट मेट्रिक्स जेनरेट करने की सुविधा देता है जिससे आप ज़रूरत के मुताबिक मूड और मटीरियल की संभावनाओं के साथ प्रयोग कर सकते हैं — अगर ज़रूरत हो, तो इनमें से हर एक को बढ़िया क्वालिटी की इमेज के तौर पर रेंडर कर सकते हैं.

 

इसका परिणाम यह होता है कि हर एक प्रपोज़ल की बेहतरीन इमेज क्वालिटी बनाए रखते हुए आप ज़्यादा पारंपरिक डिज़ाइन तरीकों की तुलना में, अपने क्रिएटिव प्रपोज़ल आउटपुट में बढ़ोतरी कर सकते हैं.

बेजोड़ प्रज़ेंटेशन.

बेजोड़ प्रज़ेंटेशन.

3D-आधारित आर्किटेक्चरल वर्कफ़्लो का एक और फ़ायदा: 3D Assets का इस्तेमाल कई प्रज़ेंटेशन फ़ॉर्मैट में किया जा सकता है. इनमें बेहतरीन इमेज रेंडरिंग, फ़िल्में, 360-डिग्री इमर्सिव अनुभव और टूल में बनाए गए वर्चुअल टूर, जैसे कि अनरीयल इंजन या यूनिटी शामिल हैं.

 

जो भी प्रज़ेंटेशन स्टाइल आपके लिए कारगर हो, आपके 3D Assets उसी स्टाइल में आसानी से फ़िट हो जाते हैं.

आपके आर्किटेक्चरल वर्कफ़्लो के लिए इस्तेमाल में आसानी.

आपके आर्किटेक्चरल वर्कफ़्लो के लिए इस्तेमाल में आसानी.

“अपने मटीरियल सीधे अनरीयल इंजन 4 में डाउनलोड करने के लिए Substance 3D Assets लाइब्रेरी एक शानदार तरीका है और इसका इंटरफ़ेस भी बहुत आसान है. मैं 4K टेक्स्चर के साथ काम करता हूँ और उनमें बदलाव कर देता हूँ.”

— पासक्वेल स्कियॉन्टी, 3D आर्किटेक्चरल विज़ुअलाइज़र, SCIONTI  DESIGN

Substance 3D टूलसेट अपने अलग-अलग ऐप्लिकेशन के बीच आसानी से काम करने की सुविधा देता है, साथ ही सभी प्रमुख 3D टूल, चाहे वे ऑफ़लाइन हों या रीयल-टाइम, दोनों के साथ बिना रुकावट इंटीग्रेशन की सुविधा भी देता है. Substance 3D प्लगइन आपको Substance 3D मटीरियल को सीधे ड्रॉइंग टूल में, जैसे कि Sketchup; मॉडलिंग टूल में, जैसे कि Revit, 3ds Max, Maya, Rhino, Cinema 4D और Modo; 3D रेंडरिंग इंजन, जैसे कि Lumion, V-Ray या Corona के साथ ही Enscape VR प्लग इन और प्रमुख गेम इंजन, जैसे कि अनरीयल इंजन या यूनिटी में इंपोर्ट, एडिट और विज़ुअलाइज़ करने की सुविधा देते हैं. आप चाहे किसी भी टूल का इस्तेमाल कर रहे हों, Substance 3D टूलसेट आपके वर्कफ़्लो में फ़िट हो जाता है.

 

क्या आप चाहते हैं कि आपकी आर्किटेक्चर कंपनी Substance 3D का इस्तेमाल करें? ज़्यादा जानें.