फ़ैशन डिज़ाइन के लिए Substance 3D.

फ़ैशन डिज़ाइन

कुछ साल पहले तक, यह माना जाता था कि 3D डिज़ाइन टूल काफ़ी हर तक आर्किटेक्टर और ऑटोमोबाइल जैसे डोमेन के लिए हैं — यानी कि मज़बूत सतह वाली चीज़ें बनाने के लिए. ज़्यादातर लोगों के हिसाब से, उस समय के 3D डिज़ाइन टूल के साथ कपड़े जैसी हल्की और मुलायम चीज़ों के लिए डिज़ाइन बनाना बहुत ज़्यादा मुश्किल था.

अब ऐसा नहीं है. 3D फ़ैशन टेक्नोलॉजी से, प्रॉडक्ट डेवलपमेंट, पैटर्न बनाने, फ़िटिंग वगैरह को लेकर कपड़े, फ़ैशन, और लक्ज़री (एएफ़&एल) इंडस्ट्री में क्रिएटिव लोगों के काम करने का तरीका बदल रहा है. कपड़ों के 3D डिज़ाइन बनाने के लिए उपलब्ध सॉफ़्टवेयर से, डिज़ाइन बनाने की प्रोसेस आसान हो जाती है. साथ ही, इससे समय और खर्चे की बचत के अलावा, पर्यावरण को होने वाले नुकसान को भी कम किया जा सकता है. 3D और AR टेक्नोलॉजी की मदद से, फ़ैशन ब्रैंड दुनिया भर में ऑडियंस से जुड़ पाते हैं और ब्रैंड में लोगों की दिलचस्पी बढ़ाते हैं.

 

आज-कल 3D टेक्नोलॉजी की मदद से, कपड़ों के लुक और इस्तेमाल करने या रखने की बिल्कुल असल दिखने वाली इमेज बनाई जा सकती हैं. इससे एएफ़&एल इंडस्ट्री में लगातार बदलाव आ रहा है. Adidas, Hugo Boss, Louis Vuitton वगैरह जैसी कंपनियाँ, डिज़ाइन की प्रोसेस में 3D टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रही हैं.

 

कपड़ों के डिज़ाइन बनाने वाले क्रिएटर्स के लिए, ई-कॉर्मस बिल्कुल एक उभरता हुआ और दिलचस्पी भरा फ़ील्ड है. 3D टूल इस्तेमाल करने से, ई-कॉमर्स में AR (ऑगमेंटेड रिएलिटी) और असल दुनिया जैसे अनुभव देने की संभावना बढ़ जाती है. इससे ब्रैंड को लेकर लोगों का नज़रिया बेहतर करने और ग्राहकों से अच्छे रिश्ते बनाने में मदद मिलती है. कई सालों से, कपड़ों के डिज़ाइनर यह सवाल पूछते रहे हैं, “क्या वर्चुअल तरीके से कपड़े इस्तेमाल करके दिखाने से संभावित ग्राहक कपड़े खरीदेंगे?” इस सवाल का जवाब अब हाँ हो चुका है.

प्रॉडक्ट डेवलपमेंट की एक ज़्यादा आसान और तेज़ प्रोसेस.

प्रॉडक्ट डेवलपमेंट की प्रोसेस

“Substance से हम ज़्यादा क्रिएटिविटी दिखा पाते हैं और प्रयोग कर पाते हैं, वहीं इससे प्रोडक्शन में भी कम समय लगता है — सबसे अच्छी बात यह है कि इससे हमें बेहतरीन डिज़ाइन मिल पाते हैं.”

— बस्तियान जेलुक, INDG

कपड़े बनाने वाली कंपनियों को, 3D डिज़ाइन टूल से काफ़ी फ़ायदे मिल सकते हैं. सबसे अहम फ़ायदों में से एक है कि इनसे कंपनी की कुल मिलाकर प्रोडक्शन स्पीड तेज़ होती है. डिज़ाइनर वर्चुअल तरीके से, किसी कपड़े के कई वैरिएंट बना सकता है. इससे मार्केटिंग में प्रॉडक्ट के पहुँचने में हफ़्तों और महीनों के हिसाब से समय की बचत होती है. वे ज़रूरत के हिसाब से, प्रॉडक्ट के ऐसे विज़ुअल बना और शेयर कर सकते हैं जो असल फ़ोटो की तरह दिखते हैं. उन्हें फ़िज़िकल सैंपल के लिए इंतज़ार नहीं करना पड़ता. 3D टेक्नोलॉजी इस्तेमाल करने से, फ़िज़िकल प्रोटोटाइप बनाने में आने वाला खर्चा भी काफ़ी कम हो जाता है

 

एक तरफ़ जहाँ काम की स्पीड बढ़ जाती है, वहीं दूसरी ओर कपड़ों के कई क्रिएटिव वैरिएंट उपलब्ध कराए जा सकते हैं. Adobe Substance 3D के टूलसेट की मदद से, और बेहतर टूल इस्तेमाल करके डिज़ाइन में काम आने वाले और पहलुओं पर काम किया जा सकता है. साथ ही, डिज़ाइन के अपने सभी आइडिया को लेकर, असल दिखने वाले और पूरी जानकारी वाले विज़ुअल बनाए जा सकते हैं. इनसे आपको बेहतर तरीके से अपना काम दिखाने का मौका मिलता है.

 

दूसरी इंडस्ट्री की तरह, कपड़े के बिज़नेस में भी लंबे समय तक काम करना एक चैलेंज है. 3D प्रोसेस इस्तेमाल करने से यह चैलेंज दूर हो जाता है — इसमें कपड़ों को 3D में डिज़ाइन करने से, पैटर्न कटिंग और फ़िटिंग से कपड़ों की होने वाली बर्बादी कम की जा सकती है. कपड़ों के डिज़ाइन बनाने के लिए, 3D टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करना आसान और सही है. साथ ही, इसे लंबे समय तक इस्तेमाल किया जा सकता है. अपने कलेक्शन को 3D में डिज़ाइन करें. इस टेक्नोलॉजी के ज़रिए वर्चुअल तरीके से फ़िटिंग देखें या अपना कलेक्शन रिलीज़ करें.

Substance 3D की मदद से, कपड़े डिज़ाइन करने की प्रोसेस बेहतर बनाना.

कपड़े डिज़ाइन करना

The Adobe Substance 3D के टूलसेट की मदद से, अपने हिसाब से कोई भी मटीरियल तैयार किया जा सकता है. नए सिरे से अपने मटीरियल बनाए जा सकते हैं. इसके अलावा, असल दुनिया के संसाधनों की फ़ोटो से 3D मटीरियल लिए जा सकते हैं. इसके बाद, इनमें ज़रूरत के हिसाब से बदलाव किए जा सकते हैं. आपके पास, मटीरियल के अपने प्रीसेट बनाने का विकल्प भी होता है. इनकी मदद से, संसाधनों को आसानी से एक्सपोर्ट किया जा सकता है. साथ ही, कई हिस्सों में बांटे जा सकने वाले मटीरियल बनाए जा सकते हैं. इसके अलावा, हाई रिज़ॉल्यूशन (4K) वाली इमेज बनाई जा सकती हैं. 

Substance में मटीरियल बनाने का प्रोसेस सेट है — आपको बस मटीरियल के लिए चुने गए पैरामीटर सेट करने होंगे. सॉफ़्टवेयर आपकी ज़रूरत के हिसाब से, असल फ़ोटो की तरह दिखने वाला मटीरियल यूनीक और एक जैसा बना देगा. उदाहरण के लिए, लेदर के लिए रंग, एक तरह के कण और उनकी दिशा जैसे पैरामीटर सेट किए जा सकते हैं. साथ ही, यह भी तय किया जा सकता है कि लेदर कितना खुरदुरा या मुलायम होगा और बार-बार इस्तेमाल करने पर उस पर कितना असर पड़ेगा. जितने चाहे उतने पैरामीटर सेट करके, मटीरियल के लिए कई मेट्रिक्स बनाई जा सकती हैं. स्टिचिंग या डीकल जैसे और एलिमेंट भी इस्तेमाल करें, ताकि ज़्यादा से ज़्यादा नतीजे मिल पाएँ.

कपड़ों के 3D डिज़ाइन बनाने के लिए उपलब्ध दूसरे सॉफ़्टेवयर के साथ इंटिग्रेट करना.

कपड़ों के 3D डिज़ाइन बनाने के लिए उपलब्ध सॉफ़्टवेयर

कपड़े डिज़ाइन करने की प्रोसेस के दौरान, Substance 3D के टूलसेट से दूसरे टूल पर आसानी से स्विच किया जा सकता है. Illustrator या Photoshop जैसे दूसरे Adobe Creative Cloud ऐप्लिकेशन इस्तेमाल करके बनाए गए 2D कॉन्टेंट को भी शामिल किया जा सकता है. साथ ही, उन्हें 3D में इस्तेमाल करने के लिए Substance टूलसेट में लाया जा सकता है. उदाहरण के लिए, किसी लोगो को 3D डीकल के तौर पर लागू किया जा सकता है. इसके अलावा, किसी 2D डिज़ाइन का इस्तेमाल, 3D में मटीरियल को रंग देने के लिए ऐल्फ़ा के तौर पर किया जा सकता है. Substance 3D और दूसरे ऐप्लिकेशन के बीच स्विच करना बेहद आसान है.

 

Substance 3D टूल से बनाए गए डिज़ाइन को बाहरी कामों के लिए एक्सपोर्ट भी किया जा सकता है. उदाहरण के लिए, कोई AR (ऑगमेंटेड रिएलिटी) वाला सेट अप बनाया जा सकता है या वर्चुअल कैटवॉक तैयार की जा सकती है. Substance के टूलसेट से इस तरह के प्रोजेक्ट काफ़ी बेहतर तरीके से बनाए जा सकते हैं. 

 

साथ ही, Substance में मौजूद इस्तेमाल के लिए तैयार मटीरियल, कपड़ों की इंडस्ट्री में इस्तेमाल होने कई अहम सॉफ़्टवेयर के टूल के साथ सीधे इंटिग्रेट होते हैं.  Substance के मटीरियल, सीधे तीसरे पक्ष के ऐप्लिकेशन के अंदर इस्तेमाल किए जा सकते हैं और उनमें बदलाव किया जा सकता है. इसके लिए, Substance 3D सॉफ़्टवेयर पर वापस जाने की ज़रूरत नहीं होती. यह काम CLO, Marvelous Designer, Maya, और Browzwear के Vstitcher सॉफ़्टवेयर जैसे मॉडलिंग टूल में किया जा सकता है. साथ ही, Unreal Engine गेम इंजन के अलावा, V-Ray और Redshift रेंडरिंग इंजन में भी ऐसा करना मुमकिन है.

““Substance के मटीरियल को CLO में चल रहे प्रोजेक्ट में इस्तेमाल करने और कभी भी, कहीं भी मटीरियल के पैरामीटर बदलने की सुविधा से, एक नया स्टैंडर्ड सेट हो गया है.”

— जॉन डैनियल आइज़ैक्शन, H&M

डिजिटल मटीरियल की दुनिया. 

डिजिटल मटीरियल

कपड़ों के बेहतरीन और असल फ़ोटो की तरह दिखने वाले 3D डिज़ाइन बनाने के लिए, आपको बेहतरीन 3D मटीरियल की ज़रूरत होगी. यहाँ आपको Substance 3D के टूल के बारे में जानकारी दी गई है.  

 

Substance 3D की एसेट की लाइब्रेरी में, पूरी तरह से पैरामीटर के हिसाब से बने कई तरह के मटीरियल मिलते हैं. आपको लेदर, सिलाई और बुनाई वाले मटीरियल, डेनिम, और खेल-कूद के कपड़े के खास फ़ैब्रिक मिलेंगे — पैरामीटर के हिसाब से, इनमें से हर एक मटीरियल में ज़रूरत के मुताबिक बदलाव किए जा सकते हैं, ताकि अपना मनपसंद लुक मिल पाए. इसके अलावा, अगर आपको वह चीज़ मिल गई है जो कहीं ओर ढूँढी जा रही थी, तो तीसरे पक्ष की लाइब्रेरी से मटीरियल इंपोर्ट करके इस्तेमाल किए जा सकते हैं. 

 

नए सिरे से, मटीरियल की अपनी लाइब्रेरी भी बनाई जा सकती है. पहला तरीका: Substance 3D Designer का इस्तेमाल करके, नए सिरे से अपने मटीरियल बनाएँ. आपको जो मटीरियल बनाना है उसकी बुनियादी क्वालिटी तय करें. इसके बाद, नोड पर आधारित प्रोसेस में तब तक प्रयोग करें, जब तक आपकी पसंद का मटीरियल न बन जाए. 

 

दूसरा तरीका: Substance 3D Sampler का इस्तेमाल करके, असल दुनिया के मटीरियल को डिजिटल फ़ॉर्मैट में बदलें और अपने 3D प्रोजेक्ट में इस्तेमाल करें. चुने गए सैंपल के फ़ोटो इनपुट करें. Sampler इन्हें 3D मटीरियल में बदलने के लिए ज़रूरी डेटा निकालेगा. इसे बाद में ज़रूरत के हिसाब से कपड़ों के डिज़ाइन में इस्तेमाल किया जा सकता है. इन मटीरियल को “ऐसे ही” इस्तेमाल किया जा सकता है. इसके अलावा, इनके कुछ एलिमेंट में बदलाव किए जा सकते हैं या नए एलिमेंट जोड़े जा सकते हैं. संभावनाएँ बहुत सारी हैं.

3D Assets पर नई चीज़ या ग्राफ़िक जोड़ना. 

नई चीज़ या ग्राफ़िक जोड़ना

चाहे आपने 3D Assets के लिए तीसरे पक्ष की लाइब्रेरी या Substance 3D की एसेट की लाइब्रेरी इस्तेमाल की हो या आपने अपना 3D कॉन्टेंट बनाया हो, Substance 3D के टूलसेट की मदद से एसेट को असल दुनिया में दिखने वाली फ़ोटो की तरह कई तरीके से बेहतरीन बनाया जा सकता है. उदाहरण के लिए, पेपर पर स्केच बनाने के मुकाबले, यहाँ एसेट की क्वालिटी में बदलाव करना या उसमें कोई नई चीज़ जोड़ना ज़्यादा आसान है. उदाहरण के लिए, डेनिम के मटीरियल को डिजिटल फ़ॉर्मैट में बदलकर, उसे एसेट में इस्तेमाल किया जा सकता है — इसके बाद, मटीरियल में सीम, ज़िपर और पॉकेट जोड़े जा सकते हैं. Substance 3D के टूल इस्तेमाल करने पर, क्रिएटिव प्रोसेस काफ़ी आसान हो जाती है. 

“Substance का इस्तेमाल, डिज़ाइन का कम अनुभव रखने वाले लोग भी कर सकते हैं. साथ ही, इसमें को भी व्यक्ति असल दुनिया से मेल खाने वाली बेहतरीन चीज़ें बनाने के लिए मटीरियल का इस्तेमाल कर सकता है. हर किसी को डिजिटल मटीरियल पर काम करने के लिए इसका इस्तेमाल करना चाहिए.”

— सेफ़िर बेलालाई, VF CORPORATION

कपड़ों के लिए, प्रिंट किए गए डिज़ाइन भी इस्तेमाल किए जा सकते हैं. इनमें कढ़ाई के काम, फ़्लॉकिंग, ग्लिटर, और प्लास्टिक इंजेक्शन जैसी चीज़ें जोड़ी जा सकती हैं. 3D टूल में, प्रिंट के रंग, चमक, मोटाई, मेटैलिसिटी वगैरह जैसी चीज़ें बेहतर तरीके से कंट्रोल की जा सकती हैं. साथ ही, रीयल-टाइम में बदलावों के बारे में सोचा जा सकता है और कभी भी, कहीं भी बदलाव किए जा सकते हैं. दिमाग में आ रहे आइडिया को टेस्ट करें और बेहतरीन नतीजे के साथ आगे बढ़ें.

 

क्या आप अपनी कंपनी के लिए Substance 3D इस्तेमाल करना चाहते हैं? ज़्यादा जानें.