रोज़ाना इस्तेमाल होने वाली चीज़ों (कंज़्यूमर पैकेज्ड गुड्स) के लिए Substance 3D.

 रोज़ाना इस्तेमाल होने वाली चीज़ें

हार्ड पैकेजिंग और कंज़्यूमर गुड्स सेक्टर ने डिज़ाइन विज़ुअलाइज़ेशन के साथ-साथ चीज़ों को बनाने के स्तर पर कुछ समय डिजिटल टूल इस्तेमाल किए. लेकिन जैसे-जैसे पैकेजिंग डिज़ाइन करने वाले सॉफ़्टवेयर का विकास हुआ, पूरे डिज़ाइन प्रोसेस में एकदम शुरुआती स्तर पर 3D टूल इस्तेमाल किए जाने लगे.

 

डिज़ाइन इस्तेमाल करने की स्टेज पर, 3D टूल क्षमता में काफ़ी सुधार कर सकते हैं. जब किसी पैकेजिंग डिज़ाइन में, उदाहरण के लिए, बस एक स्लाइडर एडजस्ट करके आसानी से बदलाव किया जा सकता हो और जब वह डिज़ाइन 3D में सही तरीके से विज़ुअलाइज़ की जा सकती हो, डिज़ाइनर रीयल टाइम में साफ़ तौर पर और असरदार तरीके से प्रपोज़ल के बारे में बता सकते हैं. परिणामस्वरूप, इसके इस्तेमाल की रफ़्तार बहुत ज़्यादा बढ़ जाती है.

 

3D में डिज़ाइन दिखाना, काम करने के पारंपरिक तरीके की तुलना में ज़्यादा बेहतर विकल्प है. डिज़ाइनर महँगे और लंबे प्रोटोटाइपिंग प्रोसेस के बगैर भी 3D मॉडल बना सकते हैं. इससे प्रोटोटाइप बनाने और उन्हें भेजे जाने के इंतज़ार में समय बरबाद नहीं होता — और कागज़ भी. पैकेजिंग डिज़ाइनर डाइलाइन कट और प्रिंट इफ़ेक्ट, जैसे कि एंबॉस की गई इमेज या लोगो, को पूरी तरह 3D में विज़ुअलाइज़ कर सकते हैं. रीयल-लाइफ़ सैंपल की ज़रूरत में बहुत ज़्यादा कमी आई है.

 

इसके अलावा, जैसे-जैसे ऑनलाइन रिटेल और ईकॉमर्स अपने पैर पसार रहा है, विज़ुअल की बढ़ती ज़रूरतों के साथ ही 3D आधारित पैकेजिंग डिज़ाइन वर्कफ़्लो भी बढ़ रहा है. 

 

प्रॉडक्ट पैकेजिंग के लिए 3D में कलर और फ़िनिश डिज़ाइन करना बहुत आसान है क्योंकि वैलिडेट किया गया हर वेरिएशन ज़रूरत के मुताबिक विभागों के बीच शेयर किया जा सकता है — डिज़ाइन, इंजीनियरिंग और मार्केटिंग विभागों के बीच डिज़ाइन और विज़ुअलाइज़ेशन इमेज शेयर किए जा सकते हैं. उदाहरण के लिए, ठीक उसी समय से जब कोई फ़ाइनल डिज़ाइन वैलिडेट किया गया हो. अलग-अलग फ़ॉर्मैट में किसी चीज़ को बार-बार बनाने की ज़रूरत नहीं, जानकारी को बिना किसी रुकावट के एक जगह से दूसरी जगह भेजा जाता है और इसे वर्चुअल फ़ोटोग्राफ़ी, प्रिंट विज्ञापनों, ऑनलाइन डिसप्ले और एनिमेटेड कमर्शियल जैसे उद्देश्यों के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है.

 

Adobe Substance 3D टूलसेट पैकेजिंग और ग्राफ़िक डिज़ाइनर को उनके पैकेजिंग डिज़ाइन पर क्रिएटिव तरीके से काम करने की पूरी आज़ादी देता है. उद्यमी ग्राहक पैकेजिंग डिज़ाइन बनाने के लिए CAD डेटा को कन्वर्ट कर सकेंगे या Substance 3D टूलसेट में कोई भी सामान्य फ़ॉर्मैट इस्तेमाल कर सकेंगे — जिसमें FBX, GBL, USDZ वगैरह शामिल हैं. इसी तरह, आप इंटरैक्टिव पाथ ट्रेसिंग की मदद से Adobe Illustrator में 2D डिज़ाइन बना सकते हैं, अपने 3D मॉडल में उन्हें इंपोर्ट करके उन्हें डीकल या पैटर्न के तौर पर अप्लाई कर सकते हैं और रीयल टाइम में बेहतरीन परिणाम पा सकते हैं.

 

अगर आप मौजूदा रिसोर्स का ही फ़ायदा उठाना चाहते हैं, तो Substance 3D Assets लाइब्रेरी इस्तेमाल के लिए तैयार हज़ारों मटीरियल उपलब्ध करवाती हैं जिन्हें आप किसी भी Substance 3D ऐप में सीधे इंपोर्ट कर सकते हैं और इनकी मदद से आप अपने पैकेजिंग डिज़ाइन में 3D डिज़ाइन का आसान इस्तेमाल और विज़ुअलाइज़ेशन कर सकते हैं. रियलिस्टिक विज़ुअलाइज़ेशन के उद्देश्य से सबस्ट्रेट (जैसे कि कागज़, प्लास्टिक या रबर) पर आधारित मटीरियल अप्लाई करने के लिए Substance 3D Stager का इस्तेमाल करें और परफ़ेक्ट शॉट पाने के लिए रेंडर बटन दबाएँ.

आपको जो दिखाई देता है, वही आपको मिलता है. 

आप जो देखते हैं

3D में ग्राफ़िक्स टेस्ट करना आसान है और तेज़ रफ़्तार भी. बस आपको मटीरियल, डीकल और इंपोर्ट की गई Adobe Photoshop और Illustrator फ़ाइलों को ड्रैग और ड्रॉप करना होता है. ज़्यादा सहज डिज़ाइन अनुभव के लिए तेज़ी से अलग-अलग लेआउट टेस्ट करें और रीयल टाइम में अलग-अलग डिज़ाइन देखें. इंटिग्रेटेड UV एक्सपोर्ट आपको ओरिजनल डाइलाइन कट और प्रिंट करने से जुड़ी ज़रूरतों का ध्यान रखने में मदद करता है.

“एसेट पूरी तरह ब्रैंड से मेल खाते हैं और वे बहुत ही रियलिस्टिक लगते हैं. इन्हें देखने वाला कोई भी व्यक्ति यह नहीं बता सकता कि इन्हें पारंपरिक फ़ोटोग्राफ़ी का इस्तेमाल करके नहीं बनाया गया है.”

— गेल कमिंग्स, ग्लोबल डिजिटल डिज़ाइन लीड, BEN & JERRY’S 

इस्तेमाल में आसान मटीरियल लेयरिंग सिस्टम. 

इस्तेमाल में आसान मटीरियल

PBR मटीरियल के इस्तेमाल से किसी भी मटीरियल के फ़ोटोरियलिस्टिक विज़ुअलाइज़ेशन की सुविधा मिलती है: कागज़, प्लास्टिक, रबर, धातु, काँच वगैरह. Substance 3D asset लाइब्रेरी इस्तेमाल में आसान मटीरियल और प्रीसेट की एक बड़ी रेंज उपलब्ध करवाती है जिन्हें आप अपने एसेट में ड्रैग और ड्रॉप कर सकते हैं या आप किसी थर्ड-पार्टी सोर्स से 3D मटीरियल इंपोर्ट कर सकते हैं. 

 

इसके अलावा, आप अपना खुद का मटीरियल भी बना सकते हैं. आप किसी मटीरियल रेफ़रेंस से डेटा कैप्चर करने के लिए मौजूदा मटीरियल स्कैनर, जैसे कि Vizoo द्वारा बनाए गए या 3D सिस्टम का इस्तेमाल कर सकते हैं और Substance 3D Designer में अपना 3D मटीरियल बनाने के लिए इस डेटा का इस्तेमाल कर सकते हैं. आप इस मटीरियल को उसी तरह इस्तेमाल कर सकते हैं या इसके कॉम्पोनेंट बदलकर या बिल्कुल ही नई विशेषताएँ जोड़कर इसमें आगे बदलाव कर सकते हैं.

 

आप अपना खुद का डिज़ाइन मटीरियल बनाने के लिए Substance 3D Sampler का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. अपने मटीरियल सैंपल की बस एक फ़ोटो लें और इमेज को Sampler — में इनपुट की तरह शामिल करें — टूल इसे 3D मटीरियल में बदल देगा. आपके पास ज़रूरत के मुताबिक मटीरियल की विशेषताएँ बदलने की क्षमता होती है और अतिरिक्त इफ़ेक्ट के साथ इन मटीरियल की लेयरिंग करना आसान होता है.

लाइटिंग और संदर्भ के साथ पैकेज टेस्ट करें. 

पैकेजिंग टेस्ट करें

Substance 3D Stager अलग-अलग तरह की लाइटिंग को सिम्युलेट करने की सुविधा देता है ताकि डिज़ाइन में सुधार हो और उसे ज़्यादा अच्छी तरह से पढ़ा जा सके. आप खुद ही लाइटिंग एनवायरमेंट को इंपोर्ट या कैप्चर कर सकते हैं, या बैकग्राउंड इमेज इंपोर्ट कर सकते हैं और अपने 3D मॉडल में लाइटिंग और उन इमेज के परिदृश्य को अपने आप मैच करवाने के लिए 'इमेज मैच करें' फ़ीचर का इस्तेमाल कर सकते हैं. आप अपना डिज़ाइन उसके संदर्भ में देख सकते हैं और ज़रूरत के अनुसार इसका मूल्यांकन कर सकते हैं.

 

क्या आप चाहते हैं कि आपकी कंपनी Substance 3D का इस्तेमाल करें? ज़्यादा जानें.